Side Effects Of Lemon In Hindi - Essential For Health -Health Tips For Your Healthy Lifestyle

ad

Search Here

Side Effects Of Lemon In Hindi

Side Effects Of Lemon

ज्यादा नीम्बू के उपयोग से हो सकते है नुकसान भी


Side Effects Of Lemon In Hindi
Side Effects Of Lemon In Hindi

नींबू पानी और नींबू के स्वास्थ्य से जुड़े लाभों को पढ़ा जाएगा क्योंकि अक्सर सलाह दी जाती है कि यदि आप वजन कम करने के लिए आहार ले रहे हैं या मोटापे को नियंत्रित करना चाहते हैं तो आपको नींबू पानी पीना चाहिए, लेकिन इसकी आवश्यकता से अधिक पीना चाहिए, जिसका नुकसान नहीं है कम, इसलिए कुछ सुझाव और कुछ चीजें जिन्हें हम जानते हैं कि अधिक नींबू पानी पीने के बाद, आप स्वास्थ्य लाभों के बजाय साइड इफेक्ट्स देख सकते हैं

नींबू के नुकसान


आजतक आपने नींबू के फायदे के बारे में सुना होगा लेकिन जब जरूरत से ज्यादा नींबू का सेवन कर लिया जाता है तो इसके नुकसान भी होते हैं। अक्सर लोग नींबू पानी को फायदेमंद मानकार दिन में कई बार इसे पीते हैं लेकिन यह आपके शरीर के लिए नुकसानदेह हो सकता है। आइए जानें नींबू के साइड इफेक्ट के बारे में।

ALSO READ

हालांकि हम जानते हैं कि विटामिन सी, पोटेशियम और फाइबर जैसे कुछ आवश्यक तत्व आपके शरीर के लिए आवश्यक हैं, लेकिन अभी भी आवश्यक से अधिक, नींबू पानी आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है, और इस तरह के कुछ दुष्प्रभाव आपके द्वारा देखे जा सकते हैं। आप इसे प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि स्वास्थ्य लाभ के लिए नींबू पानी का उपयोग करने से पहले, आपको इसके बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करने की आवश्यकता है।

दातों के लिए हानिकारक

अधिक नींबू पानी दांतों के लिए सही नहीं है क्योंकि यह अम्लीय है क्योंकि इसे वैज्ञानिकों द्वारा माना जाता है और साथ ही साथ एसिड प्रवाह की मात्रा में आपके दांतों को बहुत नुकसान होता है, क्योंकि यह खट्टा आपके दांतों के पत्ते को नुकसान पहुंचाता है। यदि आप भूसे से नींबू पानी पीते हैं या थोड़ी देर में पीते हैं तो यह नुकसान भी कम किया जा सकता है यानी कहने के लिए कि कम से कम यदि आप इसे दांतों के संपर्क में आने की अनुमति देते हैं, तो यह नुकसान हो सकता है जिसे नियंत्रित किया जा सकता है। दांतों में संवेदनशीलता की समस्या उसी कारण से होती है जैसे क्षतिग्रस्त क्षति के बाद आपके दांत ठंड और गर्म चीजों के प्रति संवेदनशील बनने लगते हैं।


सीने में जलन होना

ALSO READ

यदि आप नींबू पानी की अत्यधिक आवश्यकता का उपभोग करते हैं तो आप भी दिल की धड़कन की शिकायत कर सकते हैं क्योंकि जब आपके पेट में अम्लीय वातावरण अत्यधिक हो जाता है, तो चिकित्सा भाषा में एसिड रिफ्लेक्स नामक एक समस्या पैदा होती है और पेट में, एसिड आपकी सांस लेने और उल्टा उगता है , जिसके कारण आप छाती और गले में दर्द महसूस करते हैं।

पेट खराब होना

नींबू के रस का ज्यादा सेवन पेट खराब कर सकता है क्योंकि यह एसिडिटी लेवल को बरकरार रखता है जिससे भोजन को पचने में आसानी होती है। कभी-कभी भोजन को पचाने के लिए एसिडिटी फायदेमंद होती है लेकिन इसका स्तर ज्यादा बढ़ने से पेट में दर्द और एसिड रिफ्लक्स और जलन की समस्या बढ़ जाती है। इससे बचने के लिए कम मात्रा में नींबू का रस लें या इसे खाने के साथ या पानी में मिलाकर ही पिएं।

मुंह के छाले


नींबू में मौजूद सिट्रिक और एस्कॉर्बिक एसिड मजबूत एंटीमाइक्रोबायल हैं जो मुंह के संक्रमण को रोकते हैं लेकिन नींबू का ज्यादा सेवन श्लेष्मा झिल्ली को नुकसान पहुंचाता है जिससे मुंह के छालों की समस्या का सामना करना पड़ता है।


शरीर में पानी की कमी


बहुत कम मामले ऐसे होते हैं जिनमें नींबू पानी ज्यादा यूरीन बनाने का काम करता है। नींबू में विटामिन सी,एस्कॉर्बिक एसिड की मात्रा बहुत अधिक होती है। यह तत्व डाइयुरेटिक तत्व के नाम से जाने जाते हैं इसका मतलब है कि यह किडनी में यूरीन के निर्माण को बढ़ाते हैं जिससे शरीर में पानी और सोडियम निकल जाते हैं और शरीर में पानी की कमी होने लगती है।

ALSO READ

जरूरी पोषण की कमी


नींबू पानी शरीर को डिटॉक्स करता है लेकिन इसके साथ ही शरीर के कई जरूरी पोषक तत्वों को भी बाहर कर देता है। इसलिए नींबू पानी का अत्यधिक सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

माइग्रेन और अस्थमा


नींबू का सेवन कभी-कभी माइग्रेन का कारण भी बन सकता है। कुछ लोगों को इससे एलर्जी भी होती है। इसके अलावा यह अस्थमा के लक्षणों को भी बढ़ा सकता है।


आयरन का अवशोषण


ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन में छपे शोध के मुताबिक नींबू का रस शरीर से आयरन को अवशोषित कर लेता है जिसके कारण मतली, डायरिया जैसी समस्याएं पैदा होती हैं। अगर आप भी नींबू पानी का सेवन ज्यादा करते हैं तो इसका सेवन कम कर दें।

ALSO READ

क्लोरोक्विन का स्तर कम करना


जर्नल ऑफ एंटीमाइक्रोबायल कीमोथेरेपी में छपे शोध के मुताबिक नींबू पानी के अत्यधिक सेवन से क्लोरोक्विन का स्तर कम हो जाता है। क्लोरोक्विन सामान्यत: मलेरिया के उपचार के लिए प्रयोग किया जाता है।

तो ये है lemon water side effects in hindi









    

Post a Comment

0 Comments